अमेरिका और चीन में तनाव चरम पर, चीन के पैसेंजर विमानों को अमेरिका में नो एंट्री

8072

कोरोना की वजह से चीन और अमेरिका के बीच रिश्ते लगातार बिगड़ते ही जा रहे हैं. ये तनाव व्यापार से होते हुए अब यात्रा तक पहुँच गया है. अब अमेरिका ने अब चीन से आने वाले यात्री विमानों पर रोक लगा दी है. ये रोक 16 जून से प्रभावी होगी. चार चीनी यात्री विमानों के लिए अमेरिका में नो एंट्री है. अमेरिका के ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट ने कहा कि 16 जून से यह आदेश लागू हो जाएगा और इसके लिए चीन सरकार ही जिम्मेदार है

दरअसल पिछले हफ्ते चीन ने अमेरिका की यूनाइटेड एयरलाइन्स और डेल्टा एयरलाइन्स की फ्लाइट्स को इजाजत नहीं दी. कोरोना वायरस की वजह से इन कंपनियों की सेवाएँ बंद थी लेकिन जब इन्हें दोबारा शुरू करने की कोशिश की गई तो चीन ने इजाजत नहीं दी. इससे बौखलाए अमेरिका ने पलटवार करते हुए चार चीनी एयरलाइन्स को अपने यहाँ उतरने की मंजूरी रद्द कर दी. चीन के ये चार एयरलाइन्स हैं- एयर चाइना, चाइना ईस्टर एयरलाइन्स कॉर्प, चाइना दक्षिण एयरलाइन्स को. और हैनन एयरलाइन्स होल्डिंग.

अमेरिका के ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट का कहना है कि चीन दोनों देशों के बीच फ्लाइट्स को लेकर हुए समझौते का उल्लंघन कर रहा है. डिपार्टमेंट का ये भी कहना है कि चीन अमेरिका के जितने ऑपरेटर्स को इजाजत देगा अमेरिका भी चीन के उतने ही ऑपरेटर्स को इजाजत देगा.