चीन की करतूतों पर पर्दा डाल रहा है WHO, भड़के ट्रम्प ने WHO पर लिया ये बड़ा एक्शन

2714

चीन से निकल कर कोरोना से सबसे ज्यादा आतंक और तबाही अमेरिका में ही मचाई है. अमेरिका में अब तक 6 लाख से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं जबकि 25 हज़ार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. कोरोन ने अमेरिका को घुटनों पर ला दिया है. दूसरी तरफ विश्व स्वास्थ्य संगठन एक चीनी संस्था की तरफ व्यवहार कर रहा है और बयानबाजी कर रहा है. शुरू से ही चीन ने कोरोना को दुनिया से छुपाया और गलत जानकारी दी जिसका परिणाम सबके सामने हैं. WHO ने चीन की करतूतों पर पर्दा डालने का काम किया. इस वजह से भड़के अमेरिका ने अब WHO पर बड़ा एक्शन लिया है.

अमेरिका ने WHO की फंडिंग रोक दी है. अमेरिका ने पिछले साल WHO को 400 मिलियन का फंड जारी किया था. अमेरिका ही वो देश है जो WHO को सबसे ज्यादा फण्ड देता है और WHO एक चीनी संस्था की तरफ कार्य कर रहा है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, ‘WHO कोरोना के प्रकोप में अपनी बेसिक ड्यूटी पूरी करने में नाकाम साबित हुआ है. चीन में जब यह वायरस फैला तो यूएन संस्था ने उसे छिपाने का प्रयास किया और इसके लिए उसे जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए.’

ट्रम्प ने WHO पर भड़कते हुए कहा, ‘क्या WHO ने मेडिकल एक्सपर्ट के जरिए चीन के जमीनी हालात का आकलन किया? इस प्रकोप को उसके मूल स्थान पर ही सीमित किया जा सकता था और काफी कम जानें जातीं. लेकिन ऐसा नहीं किया गया. अब हम WHO की फंडिंग रोक रहे हैं. अब हम ये तय करेंगे कि इन पैसों का क्या करना है?’