आखिर देवी देवताओं का मजाक उड़ाने वाले अमेजन को सबक कब सिखाया जाएगा

788

धर्म का अपमान करना, देव देवताओं का मजाक करना और लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का चलन इस वक्त खूब फल फूल रहा है… सोशल मीडिया पर जिसका जो मन आया कह दिया… जिसका मजाक उड़ाना था उड़ा दिया.. आज हम ऑनलाइन शोपिंग भी करते हैं… अपने प्रोडक्ट्स बनाइये और तमाम ई कॉमर्स वेबसाइट के जरिये अपने सामान को बेचिए..लेकिन क्या ये ई कॉमर्स कम्पनियाँ ये देखती हैं कि उनकी वेबसाईट पर कौन सा और कैसे प्रोडक्ट्स बेंचे जा रहे हैं.,,, अब आप सोच रहे होंगे कि आज मैं ऐसी बातें क्यों कर रहा हैं चलिए आपको बताता हूँ..
दरअसल स्वामी दीपंकर ने अमेजन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.. अमेजन पर कुछ प्रोडक्ट्स ऐसे बेंचे जा रहे हैं जिसमें सनातन धर्म के देवी देवताओं की तस्वीर छपी है..मलतब टॉयलेट सीट के आसपास.. जूतों में.. ऐसे कई जगहों पर देवी देवताओं की तस्वीर वाले प्रोडक्ट्स बेंचे जा रहे थे… अमेजन का बड़ा विरोध शुरू हुआ.. सोशल मीडिया पर अमेजन के खिलाफ आवाज उठायी गयी… #बायकाटअमेजन चलने लगा… देखते ही देखते अमेजन के खिलाफ 24,000 से ज्यादा ट्वीट किए गए. कुछ ट्वीट में तो विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को भी टैग किया गया. अमेजन हिंदू देवी-देवताओं के फोटो लगे जूते और टॉयलेट सीट कवर बेच रहा है. भगवान शिव और गणेश की तस्वीरों वाले डोरमेट भी बिक रहे हैं।.. अब अमेजन का एप्प हटाने और बायकाट करने की बात के कही जा रही है. एक दुसरे से लोग अपील कर रहे है कि अमेजन के एप्प को अपने मोबाइल से हटा दें.. अमेजन से सामान खरीदना बंद करें..


बाबा रामदेव ने ट्वीटर पर लिखा कि क्या #Amazon इस्लाम और ईसाइयत के पवित्र चित्रों को इस रूप में प्रस्तुत करके उनका अपमान करने का दुस्साहस कर सकता है ? हमेशा भारत के ही पूर्वज देवी देवताओं का अपमान क्यों?
स्वामी दीपांकर ने एक के बाद एक कई ट्वीट कर डाले.. हमारे ही देश में, हमसे ही धन कमाने वाली @amazonIN हमारे देवी देवताओं को अपमानित करे तो भारतवासियों को जान लेना चाहिए कि- ‘हर किसी को लड़ना पड़ता है अपना अपना युद्ध; चाहे राजा राम हों चाहे गौतम बुद्ध’! सुबह से रात हो गई है मुझे Amazon का मौन खल रहा है.
एक अन्य ट्वीट में स्वामी दीपांकर ने लिखा कि Amazon देश के देवता को अपमानित कर रहा है, कमल हसन हिन्दू को देश का पहला आतंकी बता रहा है, बाप के सामने बेटी को छेड़ा जा रहा है पिता ध्रुव त्यागी बचाने गया तो उसको मार दिया जाता है। इन सबके बावजूद “रुदाली गैंग” को डर लगता है।
अमेजन के खिलाफ उठाये गये इस कैपेन से हजारो लोग जुड़ गये… सोशल मीडिया पर बायकाटअमेजन ट्रेंड होने लगा.. अमेजन के एप्प लो लोगो ने अनइंस्टाल करके तस्वीरें शेयर करने लगे..
तब जाकर अमेजन की तरफ से कहा गया कि अमेजन के सभी विक्रेताओं को कंपनी के दिशानिर्देशों का पालन करना चाहिये। जो ऐसा नहीं करते हैं उन्हें कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है। उन विक्रेताओं को अमेजन के प्लेटफार्म से हटाया भी जा सकता है और जिन उत्पादों को लेकर सवाल उठाया जा रहा है उन्हें हमारे स्टोर से हटाया जा रहा है।


ऐसा कोई पहला मौका नही है जब अमेजन के खिलाफ लोगों का गुस्सा सामने आया हो.. इससे पहले भी भारत के झंडे का अपमान भी अमेजन द्वारा किया गया था.. कुछ प्रोडक्ट्स ऐसे थे जिसमें तिरंगे का इस्तेमाल किया गया था.. सुषमा स्वराज से जब इसको लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने अमेजन को कड़ी चेतावनी देते हुए कहा था कि इसे जल्द से जल्द हटाया जाए नही तो अमेजन के किसी अधिकारी को बीजा नही मिलेगा..
हालाँकि इस बार भी कई लोगों ने अमेजन के खिलाफ कार्रवाई के लिए विदेश मंत्री को टैग जरूर किया है लेकिन अमेजन ने आपत्ति वाले प्रोडक्ट्स को हटाने का एलान किया है लेकिन सोशल मीडिया पर लोग इतने भर से मानने वाले नही है. लोगों का कहना है अब अमेजन पर कार्रवाई होनी चाहिए..
हालाँकि ये बात तो सही है कि हिन्दू देवी देवताओं का अपमान करना आज के समय बेहद आसान हो गया है.. जो मर्जी आये कह दीजिये बोल दीजिये.. कर लीजिये.. माफ़ी मांग लीजिये.. मामला खत्म,,, नही भी मांगेंगे तो दो दिन बाद सब रफा दफा हो जाता है लेकिन किसी और धर्म के साथ ऐसा वैसा करने की हिम्मत नही होती.. कारण क्या है सोचियेगा. समझ आये तो कमेंट करके जरूर बताइयेगा नमस्कार