आज की चौपाल- आतंकवाद के खिलाफ भारत का साथ देने को तैयार हैं ये सभी देश

316

आज की चौपाल में पढ़िए बड़ी खबरों के बारे में..बड़ी खबरों में भारत के लिए विदेशों से खुशखबरी आई हैं..पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आतंकी हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान को हर तरह से घेरने की तैयारी कर ली है. फिर चाहे वह कूटनीतिक तौर पर हो या फिर सीधे आतंकियों को मुंह तोड़ जवाब देना हो. भारत की इस मुहिम का साथ दुनिया के कई देशों ने दिया है….इस आतंकी हमले को लेकर दुनिया भर के देश पाकिस्तान की आलोचना कर रहे हैं. इस कड़ी में न्यूजीलैंड की संसद में पुलवामा आतंकी हमले को लेकर निंदा कर प्रस्ताव पारित किया गया..हाउस के सभी सदस्योंु ने पुलवामा हमले की निंदा की। बता दें की ये जानकारी न्यूजीलैंड के विदेश मंत्री विंस्टन पीटर्स ने दी.

वहीं, दूसरी ओर पुलवामा हमले पर फ्रांस ने भारत को बड़ा समर्थन दिया हैं..जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए फ्रांस संयुक्त राष्ट्र में प्रस्ताव लेकर आएगा..सूत्रों की माने तो ‘संयुक्तं राष्ट्र में फ्रांस में मसूद अजहर को आतंकी सूची में डालने का प्रस्तांव डालेगा, अगले दो दिन में ऐसा प्रस्ताव लाया जा सकता हैं..इस प्रस्ताव में फ्रांस मसूद अजहर को बैन करने की मांग करेगा..यहां पर ये भी बताना जरूरी होगा कि पुलवामा हमले की जिम्मेंदारी जैश ए मोहम्म्द ने ही ली है। इसका हैडक्वाोर्टर पाकिस्ताकन के रावलपिंडी में है। ऐसे में, पुलवामा हमले पर भारत को फ्रांस का साथ मिलना, भारत की बड़ी कूटनीतिक जीत कहना गलत नही होगा..

बता दें की इजरायल ने भी खुलेतौर पर भारत को बिना शर्त हर तरह की मदद देने का एलान किया हैं…इससे भी आगे इजरायल की तरफ से कहा गया है कि इस तरह की मदद की कोई लिमिट नहीं है.. इजरायल ने साफ कहा है कि भारत पुलवामा हमले का बदला लेने के लिए उसी तरह से रिएक्टड करे जिस तरह से इजरायल फिलीस्ती न के खिलाफ करता है। पुलवामा हमले के बाद इजरायल पहला ऐसा देश है जिसने इस तरह से मदद का विश्वाास भारत को दिलाया है और पाकिस्तासन करारा जवाब देने का समर्थन किया है..उल्लेखनीय है कि इजराइली सेना अपनी सटीक और त्वरित कार्रवाई के लिए दुनिया में मशहूर है।

इन सभी के अलावा अमेरिका ने भी पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तासन को आतंकियों पर सख्तक कार्रवाई करने को कहा है। अमेरिका की तरफ से यहां तक कहा है कि भारत को अपनी सुरक्षा और इसके मद्देनजर कार्रवाई करने का पूरा अधिकार है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी इस मामले में पाकिस्तान को लताड़ा है और भारत का साथ दिया है. डोनाल्ड ट्रंप ने पुलवामा हमले को ‘भयावह’ बताया है. अमेरिका की तरफ से आया ये बयान इसलिए भी बेहद खास हो जाता है क्योंकि उसने ही अफगानिस्तारन के लिए तालिबान से चल रही शांतिवार्ता में पाकिस्ताान को मध्यहस्थर बनाया है। इतना ही नहीं राष्ट्रसपति ट्रंप के शासन में अमे‍रिका और पाकिस्ता‍न के संबंध लगातार खराब हुए हैं। ट्रंप ने पाकिस्ता न को आर्थिक मदद तक देने से इनकार कर दिया था।

बता दें कि संयुक्तप राष्ट्र की तरफ से भी इस हमले की निंदा की गई थी। संयुक्त राष्ट्र महासचिव के प्रवक्ता स्टीफन दुजारिक ने आतंकवादी हमले की पिछले सप्ताह कड़ी निंदा की थी. आतंकवादी हमले पर दुजारिक ने कहा कि हम घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करते हैं और हमला करने वालों को न्याय के दायरे में लाए जाने का आह्वान करते हैं.

2. इंग्लैंड में 30 मई से शुरू होने वाले ICC वर्ल्ड कप में अब पाकिस्तान के साथ भारत शायद ही मैच खेलेगा..सूत्रों की माने तो बीसीसीआई इस मामले पर सरकार के साथ है..और सरकार जो फैसला करेंगी बीसीसीआई मानने को तैयार है…BCCI के सूत्रों ने क्रिकेट वर्ल्डकप के दौरान होने वाले ‘टीम इंडिया पाकिस्तान के खिलाफ खेलेगी या नहीं’ के मुद्दे पर कहा की,’स्थिति कुछ समय के बाद ही साफ होगी, जब वर्ल्डकप नजदीक आ जाएगा. ICC का इससे कुछ लेना-देना नहीं है, और अभी तक हमने इस सिलसिले में ICC से बात नहीं की है.’, अगर उस समय सरकार को लगता है कि हमें नहीं खेलना चाहिए, तो जाहिर है, हम नहीं खेलेंगे.