लॉक डाउन में 3 मई तक सभी उड़ाने हुई र’द्द, यात्रियों को मिलेगा अब ये ऑफर

860

पहले भारत में कोरो’ना वायरस महामारी के संक्रमण को रोकने के लिए 25 मार्च से 14 अप्रैल तक 21 दिन का लॉकडाउन घोषित किया गया था. इस दौरान देश पूरी तरह से ठहर गया था. कोरोना वायरस की वजह से देश के अंदर सभी तरह की ट्रेन फ्लाइट बस और पब्लिक कनवेंस को पूरी तरह से बंद कर दिया गया था. जिसको देखते हुए फ्लाइट की एक कंपनी ने सभी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानों को रद्द कर दिया गया था.

लेकिन कुछ ये उम्मीद लगाये थी कि हो सकता है 14 अप्रैल के बाद लॉक डाउन खुल जाये. हालांकि, एयर इंडिया को छोड़कर अधिकतर एयरलाइंस 14 अप्रैल के बाद के लिए घरेलू टिकट की बुकिंग कर रही थीं.  मंगलवार को जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लॉकडाउन की अवधि तीन मई तक बढ़ाने का ऐलान किया, डीजीसीए ने एक सर्कुलर जारी कर निर्देश दिया कि लॉकडाउन के दौरान सभी घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानें रद्द रहेंगी.

वही दूसरी ओर विस्तारा के प्रवक्ता ने कहा, नागरिक उड्डयन मंत्रालय के आदेश के मुताबिक हमने अपनी उड़ानें तीन मई तक के लिए रद्द कर दी हैं. हम इस समय बुक किए हुए टिकट को रद्द करने की प्रक्रिया में हैं और हम अपने ग्राहकों को 31 दिसंबर 2020 तक बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के किसी अन्य तारीख में टिकट बुक करने का ऑफर देंगे. हालांकि, एयरलाइन ने कहा कि यदि किराये में अंतर आता है तो वह यात्री को चुकाना पड़ेगा.

भरता में सबसे ज्यादा इंडिगो की फ्लाइट हैं. जिसको इंडिगो ने भी तीन मई तक अपनी सभी उड़ानें रद्द करने की घोषणा करते हुए कहा कि वह बुकिंग रद्द करने की प्रक्रिया में है. कंपनी ने कहा कि ग्राहकों का पैसा पीएनआर में क्रेडिट शेल के रूप में सुरक्षित है, इसे टिकट बुकिंग की तारीख के एक साल बाद तक इस्तेमाल किया जा सकता है.  स्पाइस जेट ने भी कहा कि जिन ग्राहकों ने टिकट बुक कराया था उनका पैसा क्रेडिट शेल में सुरक्षित रहेगा.लॉक डाउन को बढ़ाने के बाद फ्लाइट कंपनी ने अपने आदेश को जारी किया हैं और बताया है कि हम लोग 3 मई तक किसी भी तरह कि कोई भी फ्लाइट न तो देश के अंदर न ही देश के बाहर उड़ायेंगे.