बॉलीवुड वालों का देश विरोधी रवैया अक्सर सामने आते रहता है. बिना कुछ जाने बुझे वो हर मुद्दे पर अपनी राय देने कि कोशिश करते रहते हैं. सबको याद है कि किस तरह मुंबई ब’म धमा’कों के दोषी याकूब मेनन की फां’सी रुकवाने के लिए कुछ बॉलीवुड वाले आधी रात को कोर्ट खुलवाने भी पहुँच गए थे. अब इस बार आलिया भट्ट की माँ और महेश भट्ट की पत्नी सोनी राजदान ने ऐसा बयान दिया है कि देश में हंगामा मच गया.

सोनी राजदान ने संसद पर आ’तंकी ह’मले के दोषी अफजल गुरु की फां’सी पर सवाल उठा दिए. सोनी राजदान ने तो यहाँ तक कह दिया कि अफजल गुरु को बलि का बकरा क्यों बनाया गया? सोनी ने ट्वीट करते हुए कहा, ‘’यह न्याय का द्रोह है. अगर वह निर्दोष है तो अब कौन है जो उसे वापस ला पाएगा. यही कारण है कि मृ’त्युदं’ड को हल्के में इस्तेमाल नहीं किया जाना है. अफजल गुरु को बलि का बकरा क्यों बनाया गया, इसकी भी ठोस जांच होनी चाहिए.’

सोनी राजदान का ये ट्वीट तब आया जब अफजल गुरु कि पत्नी तबस्सुम ने ये दावा किया कि अफजल गुरु ने देवेन्द्र सिंह का मददगार के तौर पर नाम लिया था. साथ ही तबस्सुम ने देवेन्द्र को गहने बेच कर एक लाख रुपये दिए थे.

अपने ट्वीट के बाद सोनी राजदान घिर गई. लोगों ने उनपर देश विरोधी बातें करने का आरोप लगाया जिसके बाद सोनी राजदान ने सफाई दी. सफाई देते हुए उन्किहोंने एक ट्वीट किया, ‘कोई यह नहीं कह रहा है कि वह (अफजल गुरु) निर्दोष है. लेकिन अगर उसे प्रताड़ित किया गया था और बाद में यातना देने वाला उससे कहे कि वह जो कहता है, उसे वह पूरा करे तो क्या इसकी पूरी तरह से जांच करने की जरूरत नहीं है? देविंदर सिंह के आरोपों को किसी ने गंभीरता से क्यों नहीं लिया. यह संकटपूर्ण है.’