अपनी सभा में जय श्री राम का नारा सुनते ही भ’ड़क गए अखिलेश यादव, नारा लगाने वाले को बताया जान के लिए ख़’तरा

1249

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव इन दिनों बहुत गुस्से में हैं. गुस्से की वजह है जय श्री राम का नारा. कन्नौज में अखिलेश की सभा में मंच के सामने किसी ने जय श्री राम का नारा लगा दिया तो अखिलेश यादव भड़क गए. उनका गुस्सा सातवें आसमान पर पहुँच गया. जय श्री राम सुनते ही उनका ब्लडप्रेशर इतना हाई हो गया कि उन्होंने एक पुलिस अफसर पर ही अपना सारा गुस्सा निकाल दिया.

शनिवार को कन्नौज स्थित समाजवादी पार्टी के कार्यालय में अखिलेश यादव महिला सम्मेलन में हिस्सा लेने पहुंचे थे. इसी सम्मलेन के दौरान जब अखिलेश मंच पर भाषण दे रहे थे , तभी एक युवक मंच के करीब आकर जय श्रीराम का नारा लगाने लगा. बस ये नारा सुनते ही अखिलेश यादव के दिमाग की नशें तमतमा गई. समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने उस युवक को पकड़ कर उसकी पिटाई कर दी. पुलिस ने किसी तरह उसे बचाया और वहां से निकाल कर ले गई.

इस घटना के बाद मंच की सुरक्षा में तैनात तालग्राम इंस्पेक्टर राजा दिनेश सिंह को अखिलेश ने जमकर फटकार लगाई. उन्होंने कहा कि इस युवक से उनकी जान को भी ख़’तरा हो सकता है. वो अपनी पीठ पर बैग टांग कर ले आया है. उसके बैग में क्या है किसे पता? उसका बैग चेक होना चाहिए.

अखिलेश यादव के अनुसार जय श्री राम का नारा लगाने वाला आ’त्मघा’ती हम’ला’वर हो सकता है. वैसे किस तरह के नारे लगा कर आ’त्मघा’ती हम’ले पूरी दुनिया में किये जाते हैं ये किसी से छुपा हुआ नहीं है. लेकिन चूँकि अखिलेश को अपने वोटबैंक को खुश करना है तो उन्हें जय श्री राम के नारे से भी ड’र लगने लगता है.

इंस्पेक्टर को चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक जय श्रीराम बोलने वाले युवक का नाम और पता नहीं बता देते, तब तक वह कहीं नहीं जाएंगे. इसके बाद मंच से युवक का नाम-पता जान लेने के बाद ही अखिलेश ने अपना भाषण खत्म किया.

अखिलेश के इस हरकत पर भाजपा ने पलटवार किया. यूपी भाजपा प्रवक्ता शलभ मणि त्रिपाठी ने कहा, ‘’प्रभु राम के नाम से ऐसी नफरत तो मुगलकाल के कट्टरपंथी नवाबों को भी ना थी, हे राम!!’