स्पाइसजेट एअरलाइन का पाईलेट आया कोरोना वायरस की चपेट में, मार्च में भरी थी आखिरी उड़ान

1055

आज पूरा विश्व एक भयंकर महामारी से जूझ रहा है. जिसकी वजह से कई लोगो की मौत हो गयी है और सैकड़ों लोग अभी भी इसकी चपेट में है. हालत दिन पर दिन ख़राब होती जा रही है. भारत में अभी तक 900 के करीब मामले सामने आ गए है. जबकि 21 लोग की इस महामारी के कारण मौत हो गयी है. हालातों को देखते हुए सरकार ने 21 दिन लॉक डाउन का ऐलान किया था और लोगो से अपील की थी कि वो इस बात को माने और अपने घरो में ही सुरक्षित रहे. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कोरोना से लड़ने के लिए जी जान से लगे हुए हैं. ताकि देश को इस महामारी से देश को बचाया जा सके.

इसी बीच एक और खबर कोरोना को लेकर सामने आई है और वो खबर ये है कि स्पाइसजेट एयरलाइंस का एक पायलट कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है. वहीं एयरलाइंस का कहना है कि जिस पायलट को कोरोना से संक्रमित पाया गया है उस पायलट ने मार्च में किसी भी अंतरराष्ट्रीय उड़ान को नहीं भरा था.

वहीं एअरलाइन के प्रवक्ता ने कहा, ‘‘हमारे सहकर्मियों में से एक, स्पाइसजेट के फर्स्ट ऑफिसर, कोविड-19 की जांच में पॉजीटिव पाए गए हैं. जांच रिपोर्ट 28 मार्च को आई. मार्च 2020 में उन्होंने किसी भी अंतरराष्ट्रीय उड़ान को नहीं भरा था. ’उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने 21 मार्च को आखिरी बार चेन्नई से दिल्ली के बीच घरेलू उड़ान को भरा था और तभी से उन्होंने अपने आपको अपने घर में अलग बंद कर रखा है.’ एअरलाइन के प्रवक्ता ने आगे कहा कि इस पायलट के सीधे संपर्क में आने वाले चालक दल और स्टाफ के सभी सदस्यों ने अपने को अलग कर लिया है. वो सभी लोग अगले 14 दिन तक के लिए खुद को घर में  अलग  रहना शुरू कर दिया है.

कोरोना के चलते देश में 21 दिनों का लॉकडाउन है. इसको लेकर पीएम मोदी ने मन की बात की और उन्होने बाद में कहा कि कोरोना वायरस ने सिर्फ एक देश को नहीं, बल्कि पूरी दुनिया को कैद कर लिया है. पीएम मोदी ने कहा कि देश में लॉकडाउन लागू करने के लिए मैं क्षमा मांगता हूं, लेकिन ये समय की जरूरत थी. जो मुझे करना करना पड़ा. पीएम मोदी ने जनता से अपील की कि वह लॉकडाउन का पालन करके खुद को और अपने परिवार को कोरोना संक्रमण से बचाएं. मोदी ने एक बार फिर से देश की जनता से अपील की है कि वो लोग इस बिमारी से लड़ने के लिए अपने घर में रहे. जिससे हम लोग इस बिमारी से लड़ सकें और अपने आपको महफूज़ रख सकें.

मोदी ने एक बार फिर से देश की जनता से अपील की है कि वो लोग इस बिमारी से लड़ने के लिए अपने घर में रहे. और लॉकडाउन का पालन करे. जिससे हम लोग इस बिमारी से लड़ सकें और अपने आपको महफूज़ रख सकें.