लेह-लद्दाख में वायुसेना की जबरदस्त हलचल, मिरा’ज 2000 लड़ाकू विमान तैनात, वायुसेना अध्यक्ष पहुंचे लेह एयरबेस

3195

चीन के साथ बढे तनाव के बीच लेह और लद्दाख में वायुसेना की जबरदस्त हलचल देखने को मिल रही है. वायुसेना प्रमुख RKS भदौरिया लेह एयरबेस पहुँच गए हैं और वायुसेना को ऑपरेशनल अलर्ट पर रखा गया है. ऑपरेशनल अलर्ट मतलब किसी भी वक़्त किसी भी ऑपरेशन के लिए तैयार रहना. LAC पर भारतीय वायुसेना के हेलिकॉप्टर लगातार गश्त कर रहे हैं. मिराज 2000 ल’ड़ाकू विमान को लद्दाख में तैनात कर दिया गया है. मिराज 2000 वही ल[‘ड़ाकू विमान है जिसने बालाकोट में एयरस्ट्राइक कर पाकिस्तान के होश उड़ा दिए थे. श्रीनगर और लेह एयरबेस पर एक्टिविटी बढ़ गई है. श्रीनगर-लेह हाइवे को पहले ही आम लोगों के लिए बंद कर दिया गया है.

वायुसेना प्रमुख RKS भदौरिया ने लेह एयरबेस का दौरा करने से पहले CDS बिपिन रावत और सेना प्रमुख एमएम नरवणे से मुलाकात की थी. इस मुलाक़ात के बाद मिराज 2000 फ्लीट को लद्दाख में तैनात किया गया. सुखोई 30 को भी अलर्ट पर रखा गया और ऊपर के एयरबेस पर तैनात किया गया है. ताकि जरूरत पड़ने पर LAC पर किसी भी ऑपरेशन को अंजाम दिया जा सके. अपाचे और चिनूक हेलिकॉप्टर के जरिये उपरी इलाकों में तैनात जवानों तक रसद और हथियार पहुंचाए जा रहे हैं. अपाचे हेलिकॉप्टर और चिनूक हेलिकॉप्टर अमेरिकी सेना द्वारा प्रयोग किया जाने वाला सबसे बेहतरीन हेलिकॉप्टर है और ये किसी भी मुश्किल परिस्थितियों में काम कर सकता है.

लेह के अलावा श्रीनगर, अम्बाला, आदमपुर, हलवाड़ा जैसे इलाकों में वायुसेना ने अपनी हलचल को बढ़ाया है. बरेली एयरबेस लद्दाख रीजन में है और वहां भी हलचल काफी बढ़ गई है. इसी बीच वायुसेना ने सरकार को प्रस्ताव दिया है कि रूस से 33 और ल’ड़ाकू विमान की खरीदारी की जाए.