पाकिस्तान से आये इस वीडियो ने खोल कर रख दी एयर स्ट्राइक की सच्चाई

365

14 फरवरी को कश्मीर के पुलवामा में हमला हुआ CRPF की वैन पर जिसमें हिंदुस्तान के 40 से भी ज्यादा जवान शहीद हो गए., हमले की जिम्मेदारी ली आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद ने.. जिसे पाकिस्तान ने अपनी सरज़मीं पर पनाह दी हुई है लेकिन पाकिस्तान हमले में अपनी किसी भी प्रकार की भूमिका होने से इनकार करता रहा.. यह भी कहा कि “पाकिस्तान में आतंकवादी” “क्या बात कर रहे हो.. हो ही नहीं सकता” फिर 26 फरवरी को भारत ने पाकिस्तान में मौजूद आतंकी ठिकानों पर एयर स्ट्राइक की और दावा किया 300 आतंकियों के मारे जाने का.. पाकिस्तान इससे भी इनकार करता रहा और कि हमारे यहाँ कोई कैसुअल्टी नहीं हुई.. और जहाँ पर हिन्दुस्तानी एयर फाॅर्स ने एयर स्ट्राइक किया वहां सिर्फ एक चिड़िया मरी और पेड़ पौधों को नुकसान हुआ.. लेकिन किसी के भी ना मरने पर भी इन्हें बड़ी मिर्चें लगी और पलट के हिंदुस्तान पर एयर स्ट्राइक करने की कोशिश की.. और इसमें भी इनको मात मिली.. अब सोचने वाली बात यह है कि अगर कोई मरा ही नहीं तो इनको इतनी तिलमिलाहट क्यूँ हुई.. अब पाकिस्तान ने तो बहुत कोशिश की एयर स्ट्राइक के सुबूतों को मिटाने की.. उनमें मारे गए आतंकियों को छुपाने की.. लेकिन एक के बाद एक कर कर के एयर स्ट्राइक में मारे गए आतंकियों के सुबूत सामने आते रहे, कभी जैश की तरफ से ऑडियो टेप्स में इसका ज़िक्र हुआ, कभी स्थानीय लोगों के बयानों में.. और अब हमारे सामने एक वीडियो भी आ गया है,

इस वायरल वीडियो में एक अमेरिकी कार्यकर्ता ने दावा किया है कि बालाकोट में की गई एयरस्ट्राइक में करीब 200 से अधिक आतंकी मारे गए थे. मूलत: रूप से गिलगिट के रहने वाले अमेरिकी कार्यकर्ता सेंग हसन सेरिंग ने 2.20 मिनट का वीडियो जारी किया है जिसमें पाकिस्तानी सेना के जवान कुछ स्थानीय लोगों से मिल रहे हैं. और उन्हें सांत्वना दे रहे हैं, इसी दौरान वह कहते हैं कि कल हमारा करीब 200 बंदा ऊपर गया है.

समाचार एजेंसी ANI के दावे के मुताबिक, ये वीडियो उर्दू मीडिया में काफी वायरल हो रहा है और कई तरह के सवालों को जन्म दे रहा है. उर्दू मीडिया के अनुसार, एयरस्ट्राइक के बाद कई लाशों को बालाकोट से खैबर पख्तूनवा शिफ्ट किया गया था.

वीडियो में दिखाया गया है कि पाकिस्तानी सेना के जवान कह रहे हैं कि हमारे 200 से ऊपर लोग शहीद हुए हैं, ये समय पाकिस्तानी सरकार के साथ खड़ा होने का है. जवान कह रहे हैं कि हमारे नसीब में शहादत नहीं लिखी है लेकिन जिनके नसीब में है हमें उनके साथ खड़ा होना चाहिए. इस दौरान आतंकियों के कई परिजन, बच्चे वीडियो में बिलखते हुए नज़र आ रहे हैं.

अमेरिकी कार्यकर्ता सेंग हसन सेरिंग ने हालांकि ये भी कहा कि वह इस वीडियो की पुष्टि तो नहीं कर सकते हैं, लेकिन इस प्रकार की चीजें देखकर ये स्पष्ट है कि पाकिस्तान कुछ बड़ा छुपा रहा है. वह पर लोकल मीडिया, अंतरराष्ट्रीय मीडिया को घुसने नहीं दिया जा रहा है.

सेरिंग ने कहा कि पाकिस्तान भले ही लगातार दावा कर रहा हो कि बKIलाकोट में सिर्फ पेड़ों को ही नुकसान पहुंचा है लेकिन फिर भी उसने पूरे इलाके को घेरा हुआ है और सुरक्षा की व्यवस्था को पुख्ता किया हुआ है.

उन्होंने बताया कि वहां मौजूद जैश-ए-मोहम्मद के मदरसे से एयरस्ट्राइक के ठीक अगले दिन कई लाशों को खैबर पख्तनूवना शिफ्ट किया गया. इनसभी बातों को लोकल मीडिया और अंतरराष्ट्रीय मीडिया से छुपाया गया था.

300 लोगों का मारा जाना कोई मज़ाक है क्या जो पाकिस्तान छुपा लेगा, कोशिश तो बहुत की मगर सच सामने आता जा रहा है, एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान की सरकार, पाकिस्तान की सेना और पाकिस्तान के मीडिया में जो हलचल मची हुई है उससे साफ़ है कि पाकिस्तान की यह जलन यूँ ही नहीं है.. यह तिलमिलाहट यूँ ही नहीं है.. यह वो आक्रोश है जो किसी अपने के मरने के बाद पनपता है और पाकिस्तान का आतंकवाद के प्रति प्यार और हमदर्दी पूरा विश्व बहुत अच्छे से जानता है