बिहार चुनाव में ओवैसी की पार्टी की हुई एंट्री,आरजेडी की बढ़ सकती है टेंशन

101

बिहार विधानसभा चुनाव के लिए राजनीतिक पार्टियां अपनी-अपनी कमर कस चुकी है. सभी पार्टियाँ अपने अपने वोटरों को लुभाने का काम शुरू कर दिया है. इसी क्रम में पीएम मोदी ने बिहार के लिए कई प्रोजेक्ट का उद्घाटन और शिलान्यास भी किया है. पीएम मोदी ने और भी कई सौगाते दी है. इसी सिलसिले में सीएम नीतीश कुमार ने भी बिहार के लोगों को बस अड्डा ISBT दिया है और भी कई प्रोजेक्ट दिए हैं.

दूसरी तरफ बिहार चुनाव में महागठबंधन में भी दरार पडती जा रही है. क्योंकि महागठबंधन का कुनबा पहले से ही बि’ख’रा हुआ है और अब उसमे सें’ध लगाने का काम ओवैसी की AIMIM कर सकती है. ऐसी उम्मीद जताई जा रही है. इस क्रम में अब एआईएमआईएम और समाजवादी जनता दल डेमोक्रेटिक (एसजेडीडी) के बीच गठबंधन तय हो गया है. जिससे बिहार में राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के लिए भी ख’त’रे की घंटी बज चुकी है.

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने जानकारी देते हुए बताया कि ‘बिहार चुनाव के लिए एआईएमआईएम और समाजवादी जनता दल डेमोक्रेटिक के बीच गठबंधन तय हुआ है. यूडीएसए गठबंधन देवेंद्र प्रसाद यादव के नेतृत्व में चुनाव लड़ेगा. ऐसी पार्टियां, जो सा’म्प्र’दा’यि’क’ता के खि’ला’फ ल’ड़’ना चाहते हैं उनका स्वागत है.’ बता दें बिहार में मुस्लि’म और या’दव आरजेडी का वोट बैंक माना जाता है. तो अब क्या AIMIM आरजेडी के वोट बैंक में सें’ध लगा सकती है.

आपको बता दें की ओवैसी पहले ही बिहार विधानसभ 2020 चुनाव लड़ने का ऐलान कर चुके थे. ओवैसी ने कांग्रेस पर नि’शा’ना साध’ते हुए कहा कि ‘कांग्रेस आज शिवसेना की गोद में बैठी है. कांग्रेस खुद को ध’र्म’नि’र’पे’क्ष’ता का ठे’के’दार समझती है. कांग्रेस की सोच सा’मं’ती है. कांग्रेस की गलत नी’ति’यों का खामि’या’जा लोगों को भुगतना पड़ रहा है.’