महाराष्ट्र सरकार ने पलटा बीजेपी का ये फैसला, तो राज्यपाल से ठन गयी

2206

महाराष्ट्र सरकार में एक बार फिर से हलचल मच गयी हैं जिसकी वजह से महाराष्ट्र की राजनीति में भी उथल पुथल हो गयी हैं महाराष्ट्र की गद्दी पर विराजमान उद्धव ठाकरे की सरकार में आये दिन कोई न कोई घमासान मच जाता हैं. जिसकी वजह से उद्धव सरकार के नेता अपनी बयान बाजी की वजह से चर्चाओं में बने रहते हैं. एक बार फिर से उद्धव सरकार में हलचल मच गयी हैं. जिसके बाद देखना दिलचस्प होगा कि महारष्ट्र की राजनीति आखिर क्या क्या रूप लेती हैं.

बता दें महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने लोगो के द्वारा गांव के सरपंच चुने जाने वाले फैसले को पलटने वाले अध्यादेश पर हस्ताक्षर करने से इनकार कर दिया है. दरअसल बीजेपी सरकार ने फैसला किया था कि गाँव के लोग ही सरपंच का चुनाव करेंगे. जिसके बाद से जो भी सरपंच बनेगा उसे गाँव के लोगो द्वारा ही चुना जायेगा. वहीं अब उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली सरकार ने पूर्व सरकार के फैसले को पलटते हुए अध्यादेश लायी. जिसमें सरपंच का चुनाव ग्राम पंचायत के सदस्यों द्वारा किया जायेगा. बता दें उद्धव सरकार ने पूर्व सरकार के फैसले को पलट दिया हैं.

जिसके बाद जब महारष्ट्र के CM उद्धव ठाकरे से पूछा गया कि राज्यपाल और महा विकास अघाड़ी सरकार के बीच तकरार हैं. तो उद्धव ठाकरे ने कहा कि कुछ चीजे हैं जो बदल सकती हैं लेकिन सरकार और राज्यपाल के बीच किसी भी तरह का विवाद नहीं हैं. इसके अलावा राज्य सरकार ने अब अध्यादेश जारी करने के बजाय कैबिनेट में नए तरीके से विधेयक लाने का फैसला किया है. बता दें उद्धव ठाकरे ने सत्ता सँभालने के 24 घंटे के अंदर ही कुछ ऐसे कामों पर रोक लगा दी थी और कुछ ऐसे भी फैलसे लिए थे जिससे उनकी ही पार्टी के नेता उनसे नाराज हो गए थे.