370 हटने के बाद जम्मू कश्मीर में मिला सभी भारतीय नागरिकों को यह पहला मौका

853

370 और 35A हटने के बाद जम्मू कश्मीर में ऐसा पहला मौका होगा, जब जम्मू कश्मीर के अलावा अन्य भारतीय लोग भी नौकरी के लिए आवेदन कर सकेंगे. दरअसल 370 और 35A के तहत जम्मू कश्मीर के अलावा कोई भी अन्य राज्य का व्यक्ति वहां न ही नौकरी कर सकता था और रहने के लिए ज़मीन भी नहीं खरीद सकता था.

सांकेतिक तस्वीर

जम्मू कश्मीर हाई कोर्ट ने 33 नॉन गजटेड पोस्टों के लिए देशभर से आवेदन मंगवाये है. राज्य से 370 और 35A हटने के बाद यह सुनहरा अवसर मिलेगा. जब सरकारी नौकरी के लिए अन्य भारतीय लोग भी जम्मू कश्मीर में अपना आवेदन कर सकेंगे. इसी साल राज्य से 5 अगस्त को 370 और 35A को हटाया गया है.

हाई कोर्ट के 33 पदों के आवेदन के लिए विज्ञापन जारी किया है जिसमें टाइपिस्ट, स्टेनोग्राफर और ड्राईवर की नौकरी के लिए पद है.कोई भी आवेदक एक से अधिक पदों के लिए आवेदन कर सकता है. जारी किये गए पदों की भर्ती जम्मू कश्मीर अधिनियम 2005 के तहत कि जाएगी. जिसमें कहा गया है उपलब्ध नौकरियाँ स्थायी निवासियों के पक्ष में होंगी. दिए गए विज्ञापन में 33 पदों में से 17 पद ओपन मेरिट श्रेणी वालो के लिए है .जिसका मतलब यह है कि जम्मू कश्मीर के अलावा देशभर से कोई भी आवेदन किया हुआ व्यक्ति चुना जा  सकता है और वह राज्य में नौकरी कर सकता है.

इससे पहले बीजेपी के क्षेत्रीय नेताओं ने दिल्ली में  शीर्ष पदों पर बैठे अपने पार्टी के नेताओं  को ज्ञापन सौपा था. जिसमे उन्होंने कहा है कि राज्य में भर्ती से पहले स्थायी युवाओं को रियायत दी जाये. बीजेपी कि जम्मू यूनिट ने कहा कि केन्द्रीय सरकार से आशा है कि वह SC,ST,OBC को ही नहीं वल्कि सभी भारतीय लोगों को आरक्षण देगी. इसके अलावा क्षेत्रीय बीजेपी के नेताओं ने कहा कि हमनें मांग कि ऐसे भारतीय नागरिक जो लोग 20 साल से जम्मू कश्मीर में रह रहे है उन्हीं  को स्थायी निवासी माना जाये और नौकरियाँ दी जायें.