BJP को झटका दे कर TMC में घर वापसी के बाद बोले मुकुल रॉय ‘कोई भी बीजेपी में नहीं रहेगा’

79

बंगाल में चुनाव ख़त्म होने के दो महीने बाद भी बीजेपी के साथ खेला होना जारी है. बीजेपी को आज चुनाव के बाद सबसे तगड़ा झटका लगा जब उसके 77 विधायको में से एक विधायक कम हो गया और मुकुल रॉय ने तृणमूल कांग्रेस में वापसी कर ली. मुकुल रॉय 2017 में तृणमूल छोड़ कर बीजेपी में आये थे और उसके बाद उन्होंने कई TMC नेताओं को बीजेपी में लाने में अहम भूमिका निभाई थी. मुकुल रॉय पार्टी में सुवेंदु अधिकारी को ज्यादा तवज्जो दिए जाने से खुद को सहज महसूस नहीं कर पा रहे थे. TMC में शामिल होने के बाद मुकुल रॉय ने कहा कि अभी बंगाल में जो स्थिति है, उस स्थिति में कोई बीजेपी में नहीं रहेगा.

विधानसभा चुनाव में बीजेपी को जबरदस्त शिकस्त देने के आड़ ये ममता ने दूसरा बड़ा झटका दिया है. मुकुल रॉय की घर वापसी कराने के लिए खुद ममता बनर्जी पार्टी मुख्यालय में मौजूद थीं. इस मौके पर ममता ने कहा कि मुकुल हमारे घर के ही सदस्‍य हैं. वह अपने घर वापस आ गए हैं. मैं उनका अभिनंदन करती हूं. इस दौरान ममता बनर्जी ने कहा कि चुनावों के दौरान मुकुल ने हमारे साथ गद्दारी नहीं की. जिन लोगों ने गद्दारी की है उन्‍हें हम वापस पार्टी में नहीं लेंगे. पार्टी में वापस आते ही ममत ने ये कहते हुए मुकुल रॉय को बड़ा तोहफा दिया कि वो TMC में पहले जो भूमिका निभाते थे आगे भी वही भूमिका निभाएंगे.

मुकुल रॉय उन नेताओं में से थे जिन्होंने सबसे पहले तृणमूल छोड़ कर कमल का फूल थामा था. मुकुल रॉय की हैसियत टीएमसी की सरकार में नंबर 2 के नेता के रूप में थी. UPA सरकार में वो TMC के कोटे से रेल मंत्री बने थे. खुद बीजेपी में आने के बाद उन्होंने कई TMC नेताओं को पार्टी में शामिल कराया. 2021 विधानसभा चुनाव में भाजपा ने उन्हें कृष्णानगर सीट से टिकट दिया और वो जीत भी गए. पार्टी ने उनके बेटे सुभ्रांशु रॉय को भी टिकट दिया था. लेकिन वो नहीं जीत सके. उनके TMC में शामिल होने की अटकलें तभी से लगने लगी टी जब से अभिषेक बनर्जी ने उनसे मुलाक़ात की थी.