आखिर स्मृति इरानी के पैरों में क्यों गिर पड़ी महिला

328

मोदी सरकार में दोबारा मंत्री बनने के बाद स्मृति इरानी पहली बार अमेठी पहुंची तो यहाँ उन्हें उस वक्त अजीबों गरीब स्थिति का सामना करना पड़ा जब मंच पर एक महिला स्मृति इरानी के पैरों में गिर पड़ी. इसे देखकर स्मृति इरानी का दिल पसीज गया. और उन्होंने महिला को गले से लगा लिया. दरअसल केंद्रीय मंत्री ईरानी गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत के साथ शनिवार 22 जून से अमेठी के दो दिवसीय दौरे पर हैं. इस दौरान उन्होंने रौलिया गांव में दिवंगत बीजेपी नेता सुरेंद्र सिंह के परिजनों से भेंट की. इसके बाद इन्होने अमेठी में आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा लिया. यहाँ लोगों को संबोधित करते हुए स्मृति इरानी ने कहा कि किसी ने भी नहीं सोचा था कि एक साधारण परिवार की महिला को आपके प्रतिनिधि बनने का अवसर मिलेगा. एक ऐसे क्षेत्र में जो ‘नामदार’ का गढ़ था, जहां यह माना जाता था कि भले ही सांसद 5 साल तक नहीं लौटे, लोग उसे स्वीकार करेंगे.


इसी दौरान स्टेज पर पहुंचकर एक महिला ने स्मृति इरानी का पैर पकड कर रोने लगी. इसके बाद स्मृति इरानी ने उन्होंने उठाया और गले लगा लिया. महिला ने अपनी शिकायत में बताया कि परिवार के सदस्यों ने उसकी जमीन पर कब्जा कर लिया है. उसे न्याय दिलाया जाए. स्मृति ईरानी ने मामले का संज्ञान लिया और महिला को उचित कार्रवाई का आश्वासन दिया. इसके बाद जब स्मृति इरानी का काफिला जा रहा था तब उन्हें रास्ते में उनकी नजर एक बीमार महिला पर पड़ी इसके बाद स्मृति इरानी ने अपना काफिला रुकवाया. महिला समेत उसके परिजनों से बातचीत की और हालचाल जाना. और फिर उस बीमार महिला को अपने काफिले के अम्बुलेस से अस्पताल भिजवाया और कौन से अस्पताल में महिला को ले जाया जा रहा है इसकी पूरी जानकारी ली. इसका वीडियो भी सामने आया है जो इस समय सोशल मीडिया पर खूब चल रहा है. मिली जानकारी के मुताबिक़ महिला का कुछ समय पहले एक्सीडेंट हुआ था और अब उसे पैरलासिस लकवा रोग भी हो गया. ऐसे में वह अपने कदमों से चलने से लाचार है.


यहाँ आपको यह भी बता दें कि अमेठी पहुंचे गोवा के मुख्यमंत्री ने बताया कि गोवा के पूर्व सीएम मनोहर पर्रिकर ने इस गांव को गोद लिया था. अब गोवा सरकार भी शिक्षा के क्षेत्र में काम करना चाहती है. उन्होंने कहा कि मनोहर पर्रिकर का इस गांव से काफी जुड़ाव था.
अमेठी में आज उत्तर प्रदेश में उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या, स्मृति इरानी और गोवा के मुख्यमंत्री समेत कई नेता मौजूद थे. यहाँ कोई योजनाओं का शिलन्यास किया गया.


आपको बता दें स्मृति इरानी अमेठी से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी को हराकर सांसद बनी है और मोदी सरकार में मंत्री भी है. अमेठी में स्मृति इरानी ऐसे कई मौके पर लोगों को मदद करती आई इसी का नतीजा कि सालों से अमेठी में राज करने वाले गाँधी परिवार को हराने में कामयाब भी हुई है. अब अमेठी के दौरे पर गयी स्मृति इरानी इन दो महिलाओं की मदद कर लोगों का दिल जीत लिया है.