आखिरकार राहुल गांधी सेना का बार बार अपमान क्यों करते हैं?

310

21 जून को पूरे विश्व में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया. भारत में भी योग दिवस को लेकर बड़ी तैयारी की गयी थी और बड़े पैमाने पर इसका आयोजन भी किया गया लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी योग के साथ सेना का भी मजाक उड़ाने से नही चूके… इसके बाद राहुल गाँधी को लोगों ने सलाह दी, फटकार लगाईं और सुधरने की नसीहत दी.. दरअसल राहुल गाँधी ने शुक्रवार को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर सेना की ‘डॉग यूनिट’ के योग कार्यक्रम से जुड़ी तस्वीरें शेयर करते हुए सरकार पर तंज कसा और कहा कि यह ‘न्यू इंडिया’ है. हालांकि कांग्रेस अध्यक्ष के इस तस्वीर के शेयर करते ही लोगों ने उन्हें ही ट्रोल करना शुरू कर दिया.. सरकार पर तंज कसना ठीक है, बीजेपी का मजाक उड़ाना ठीक है लेकिन सेना के उस डॉग यूनिट का मजाक उड़ाना कितना ठीक है जो देश की सुरक्षा में अपना योगदान दे रहे हैं. एक तरफ जहाँ पूरा देश भारत की इस कामयाबी पर खुश है कि हमारी पहल पर पूरा विश्व योग दिवस मना रहा है वहीँ दूसरी तरफ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी जी योगा और सेना दोनों का मजाक बना रहे हैं. ऐसा नही है जब पहली बार कांग्रेस या राहुल गांधी द्वारा सेना का इस तरह का अपमान किया गया हो.. कई बार सेना का अपमान कर चुके हैं और इसका खामियाजा भी कांग्रेस को भुगतना पड़ा है लेकिन ये हैं कि समझते ही नही..


हालाँकि ट्वीटर पर राहुल गाँधी ने सेना के डॉग यूनिट का योग करते तस्वीर शेयर कर लिखा कि ये हैं न्यू इंडिया.. इसके बाद सोशल मीडिया पर उन्हें लोगो ने खूब खरी खोटी सुनाई.. मीना नाम की एक यूजर ने लिखा कि आपके अनुसार नया भारत कैसा होना चाहिए,! संसद भवन जहां पर भारत का भविष्य लिखा जाता है वहां पर बैठकर आप मोबाइल पर पोगो खेलते हैं, तो भारत का भविष्य कैसा होगा आप खुद ही आपने पर लागू करके देख लो।
नेशन फर्स्ट की तरफ ट्वीट कर कहा गया कि राहुल गांधी शर्मिंदा है कुत्ते भी योगा सीख गये कोंग्रेसियों के चोचले जिंदा है
इंडियन आर्मी सपोर्टर की तरफ से ट्वीट कर कहा गया कि भारतीय संस्कृति और परम्पराओं की तौहीन करना और उनका मज़ाक बनाना आपके परिवार की आदत रही है। यहाँ तक ही हमारी वीर सेना और उसके बहादुर पशुओं को तक नहीं बक्शा आपने।


इतना ही नही नेताओं और मंत्रियों की तरफ से भी राहुल गाँधी को नसीहत दी गयी. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर कहा कि जब कोई बार-बार हमारी सेना का अपमान करता है तो यही प्रार्थना की जा सकती है कि हे भगवान सद्बुद्धि दे! कई नेताओं ने राहुल गाँधी को ऐसा ना करने की नसीहत भी दी.. जब राहुल गाँधी के इस ट्वीट को लेकर कांग्रेस के नेताओं से पूछा गया तो उन्होंने बोलने से ही इनकार कर दिया. मलतब इसका जवाब उनके पास भी नही था कि आखिर उनके अध्यक्ष कहना क्या चाहते हैं?
हालाँकि इसके एक दिन पहले ही जब राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद सदन में भाषण दे रहे थे तब राहुल गाँधी फ़ोन चला रहे थे. इसी को लेकर योग दिवस के मौके बीजेपी महासचिव राम माधव ने कहा कि वह अपने राष्ट्रपति के अभिभाषण तक पर भी ध्यान केंद्रित नहीं कर सकते. उन्हें अपना मोबाइल फोन चाहिये था ताकि मैसेज देख सकें या फिर वीडियो गेम्स खेल सकें. यह बचकानी हरकत अस्थिर दिमाग को दिखाती है. अगर इस पर काबू करना है तो आपको योग करने की आवश्यकता है. दरअसल कोई नेताओं और हस्तियों ने योग करते हुए अपनी फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर किया था लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने एक भी ट्वीट योग दिवस को लेकर नही किया,, किया भी तो ऐसा ट्वीट जिसपर बवाल मच गया.


खैर उम्मीद तो यही की जा रही थी कि चुनाव के बाद राहुल गाँधी की बर्ताव में कुछ बदलाव आएगा लेकिन ऐसा हुआ नही.. राहुल गाँधी अभी भी उसी तरह की हरकतें करते आ रहे हैं जो उनकी गम्भीरता पर सवाल खड़ा करते हैं.