सीएम योगी आदित्यनाथ को ध’मकी देने वाले कांस्टेबल को लेकर बिहार कोर्ट ने लिया ये फैसला

2036

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ अपने काम की वजह से और अपनी छवी को लेकर चर्चा में रहते है. उन्होने कोरोना सं’कट के वक्त भी प्रदेशवासियों के लिए योगी ने हर तरह से मदद की है. लेकिन इन सबके बीच योगी आदित्यनाथ को जा’न से मार’ने की धम’की भी मिलती रहती है.

योगी को कुछ दिन पहले एक युवक ने योगी को ब’म से उड़ाने की ध’मकी दी थी. इस कड़ी में एक और शख्स ने योगी को गो’ली से मा’रने की भी धम’की दी थी. इन दोनो को पुलिस ने गिर’फ्तार कर लिया है. लेकिन गो’ली मारने की ध’मकी देने वाला शख्स बिहार में तैनात पुलिस कांस्टेबल तनवीर अहमद खान हैं. जिसक्र कोर्ट ने  सशर्त जमानत मंजूर कर ली है. कोर्ट ने उसे मु’कदमे का फैसला होने या 2 साल तक सोशल मीडिया का प्रयोग करने पर रोक लगा दी है.

कांस्टेबल तनवीर अहमद खान को लेकर हाईकोर्ट ने कहा है कि ‘जमानत पर रिहा होने के दौरान वह मुक’दमे के ट्रायल में सहयोग करेगा, साक्ष्य से छे’ड़छा’ड़ नहीं करेगा, ग’वाहों पर दबाव नहीं डालेगा, आ’पराधि’क गतिवि’धियों में लिप्त नहीं होगा.’ हाईकोर्ट ने आगे कहा है कि ‘यदि शर्तों का उल्लं’घन होता है तो वह जमान’त निरस्त करने का आधार होगा. यह आदेश जस्टिस सिद्धार्थ ने जमानत अर्जी पर दिया है. ‘

बता दें कि तनवीर को यूपी पुलिस ने बिहार के नालंदा से गि’रफ्तार किया था. मुजरिम के खि’लाफ गाजीपुर के दिलदारनगर थाने में आईटी एक्ट के तहत एफ’आई’आर द’र्ज कराई गई है. उसे 3 मई को गिरफ्ता’र कर जेल भेज दिया गया था. इसके बाद मु’जरिम  का कहना था कि उसने फेसबुक पर इस तरह की कोई भी  धम’की नही दी थी. घ’टना के समय वह बिहार में ड्यूटी पर था. कोर्ट ने दाताराम के’स में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के आधार पर जमानत मंजूर कर ली है.