पाकिस्तान अधिकारियों ने अभिनन्दन को किया था प्रताड़ित! सोने नही दिया, गला भी घोंटा

310

पाकिस्तान के विमान का पीछा करते हुए भारतीय विमान मिग 21 क्रैश हो गये था.. जिसके पायलट विंग कमांडर अभिनन्दन पाकिस्तान की सीमा में पहुँच गये थे… पाकिस्तान की सेना ने उन्हें हिरासत में लिया.. जिसका एक विडियो भी सोशल मीडिया के जरिये सामने आया था.. विडियो में हम साफ़ देख सकते थे कि कुछ पाकिस्तानी आम नागरिक अभिनन्दन को पीटते नजर आये.. हालाँकि इसके बाद सेना ने अभिनादंदा को हिरासत में ले लिया. इसके कुछ समय बाद एक और विडियो सामने आया था.. जिसमें कुछ लोग अभिनन्दन से सवाल कर रहे थे और अभिनन्दन चाय पीते हुए सवालों का जवाब दे रहे थे… हाँ यहाँ गौर करने वाली बात तो यह भी है अभिनन्दन से सिर्फ उन्ही सवालों का जवाब दिया जिसका उन्हें देना चाहिए था.. हालाँकि इसके बाद पाकिस्तान की सेना ने अभिनन्दन के साथ क्या किया ये बड़ा सवाल था… सूत्रों के मुताबिक़ इन सवालों के जवाब अब भारतीय जाँच एजेंसियों को पता चल गयी है.. भारत वापस आ चुके अभिनन्दन के साथ पाकिस्तान की आर्मी ने दिखावे के लिए तो उनकी खूब खातिरदारी की है, लेकिन जो जानकारी सामने आ रही हैं वो उतनी ही हैरान कर देने वाली है…

दरअसल रिपोर्टस की माने तो अभिनन्दन विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान से पाकिस्तान ने भारतीय वायुसेना को लेकर खुफिया जानकारी निकलवाने की पूरी कोशिशें की थी… इसके लिए उन्हें सोने नही दिया गया.. उन्हें घंटों खड़े रहने पर मजबूर किया गया… उनका गला घोंटा गया… बंद रखा गया और यहां तक की हिरासत में उन्हें पीटा भी गया… अभिनन्दन को परेशान करने के लिए तेज गाने बजाये गये. पाकिस्तानी सेना के अधिकारियो ने भारतीय वायुसेना की तरफ से मैसेज भेजने के लिए इस्तेमाल फ्रीक्वेंसी, लड़ाकू विमानों की तैनाती और अन्य संवेदनशील जानकारियों को बारे में पूछताछ की…

हालाँकि वायु सेना के सभी पायलट को इस बात की ट्रेनिंग दी जाती है कि अगर वे दुश्मन की पकड़ में आ जाएँ तो वे कितनी देर तक कोई भी जानकारी दुश्मन को ना दें… जिससे भारतीय सेना अपने ठिकानों और जरुरी चीजों में आवश्यक बदलाव कर सके. इसके लिए भारतीय वायु सेना अपने सभी पायलट को ट्रेनिंग मुहैया करवाती है.. कमांडर अभिनन्दन ने ठीक वैसे ही किया… सेना द्वारा निर्धारित समय में उन्होंने पाकिस्तान के साथ कोई भी जानकारी साझा नही की है…
 

जानकारी के लिए बता दें कि वापस आये विंग कमांडर अभिनन्दन का भारत में जोरदार स्वागत हुआ.. लोगों में उनके प्रति काफी क्रेज हैं.. पाकिस्तानी फाइटर f16  का पीछा करते हुए विंग अभिनन्दन का प्लेन क्रैश हो गया था और वे पाकिस्तान पहुँच गये थे.. जिसके बाद भारत ने उन्हें वापस करने की मांग की थी.. मात्र 60 घंटों के भीतर पाकिस्तान ने अभिनन्दन को वापस करने का फैसला ले लिया और वाघा बार्डर के रास्ते उन्हें वापस भारत भेज दिया. अब इसे भारत की कूटनीति की जीत , भारत सरकार का दबाव कहें या फिर पाकिस्तान की दरियादिली कहें? इसे आपको सोचना चाहिए लेकिन यहाँ आपको ये जरुर जानना चाहिए कि पाकिस्तान ने पहली बार किसी भारतीय पायलट को मात्र 60 घंटें में छोड़ने को मजबूर हुआ तो इसके पीछे कोई बड़ी वजह जरूर रही होगी.

भारतीय पायलट की वतन वापसी पर पूरा देश खुश हैं और वे भारतीय वायु सेना की निगरानी में हैं. जल्द ही वे एक बार फिर दुश्मनों को सबक सिखाने के लिए तैयार हो जायेंगे!