भारत से बैठे- बैठे ही कर सकते हैं पाकिस्तान पर हमला :नड्डा

1374

भारत ने अपनी सैन्य शक्ति को बढाने के लिए अपने बेड़े में राफेल विमान को भी शामिल कर लिया है और इस पर चर्चा के दौरान भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने राफेल को भारत में लाने का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दिवंगत नेता मनोहर पर्रिकर को देते हुए कहा कि अब वायुसेना सीमा पार किए बिना भी पाकिस्तान पर हमला करने में सक्षम है. नड्डा नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन में एक रैली को संबोधित कर रहे थे। भाजपा के कार्यकारी अध्यक्षक जे पी नड्डा  ने कहा, ”रक्षा खरीद के संबंध में किए गए कई फैसलों के तहत, (रक्षा मंत्री के रूप में पर्रिकर के कार्यकाल के दौरान) हमें 36 राफेल युद्धक विमान जेट्स मिले, आगे अपनी बात को बढाते हुए उन्होने कहा अब हमारे अभिनंदन को पाकिस्तान नहीं जाना पड़ेगा, वह भारत से ही पाकिस्तान पर हमला कर सकते हैं।”

पिछले साल फरवरी में भारत-पाकिस्तान के बीच रिश्तों मे खटास होने की वजह से विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान पाकिस्तान में 60 घंटों तक बंदी रहे थे। नड्डा ने आरोप लगाया कि संप्रग सरकार देश के रक्षा बुनियादी ढांचे के उन्नयन में विफल रही है.

उन्होंने कहा, ”आज मैं पूर्व मुख्यमंत्री एवं पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं. उन्होंने नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में रक्षा बलों के लिए बहुत कुछ किया।” नड्डा ने कहा, ”संप्रग के दस साल के कार्यकाल में, हर रक्षा सौदा भ्रष्टाचार के संदेह के घेरे में था. यह हेलीकॉप्टर सौदा हो या पनडुब्बी सौदा. कांग्रेस सरकार ने दस साल किसी भी खरीद सौदे पर हस्ताक्षर नहीं किए।” नड्डा ने कहा कि संप्रग सरकार ”वन रैंक वन पेंशन” के मुद्दे को नहीं सुलझा पाई, जिसे पर्रिकर ने सुलझा दिया था.

भाजपा की सरकार जब से सत्ता पर काबिज़ हुई है, तब से उसके उपर ये आरोप लगते आये हैं कि उसने राफेल में घोटाला किया है और इसको लेकर कांग्रेस और सभी विपक्षी दल ने मिल कर भाजपा सरकार के दामन पर राफेल को लेकर खरीद-फरोक्त करने को लेकर भाजपा पर लांक्षन लगाया है. कांग्रेस दल को जब मुँह की खानी पड़ी तो कांग्रेस के दिग्गज नेता इसकी शिकायत करने सुप्रीम कोर्ट पहुँच गये,लेकिन वहां भी उन लोगो को मोदी के खिलाफ हार का सामना करना पडा़ था.