जेल में बंद आजम खान को एक और बड़ा झ’टका, SIT जाँच के बाद इस घो-टाले में पाए गये दो’षी

रामपुर से सपा सांसद और उत्तरप्रदेश में पूर्व सरकार में मंत्री रहे आजम खान की मुश्किलें थमने का नाम नहीं ले रही हैं. फर्जी सर्टिफिकेट दिखाने के मामले में आजम खान उनकी पत्नी और बेटे अब्दुल्ला आजम को जेल भेज दिया गया है. जेल पहुँचने के बाद उन्हें एक के बाद एक बड़े झटके लग रहे हैं. उनके बेटे अब्दुल्ला आजम की उत्तरप्रदेश विधान परिषद् से सदस्यता भी खत्म कर दी है. अब इसी बीच एक और बड़ी खबर आ रही है.

जानकारी के लिए बता दें सपा सरकार में जल निगम भर्ती घोटाले में आजम खान की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. इस घोटाले में चल रही जाँच के बाद SIT ने आजम को दोषी माना है. उनपर आरोप है कि 122 सहायक अभियंता, 853 अवर अभियंता समेत 1300 पदों पर भर्ती निकली थी, जिसको लेकर आरोप है कि इस भर्ती प्रक्रिया में अनियमितता बरती गयी हैं.

आजम खान पर आरोप है कि उन्होंने जल निगमभर्ती बोर्ड के चैयरमैन होने के चलते 1300 पदों की भर्ती में गड़बड़ी की है. उत्तर प्रदेश में जब बीजेपी की सरकार आयी तो इस मामले की जाँच एसआईटी को दी गयी जिसमें आजम दोषी पाए गये हैं, जेल में रहते ही अब उनको एक और बड़ा झटका लग सकता है. मामला सामने आने के बाद सीएम योगी ने जेई और क्लर्क की भर्तियों को रद्द कर दिया था.

गौरतलब है कि इस घोटाले में आजम खान के अलावा नगर विकास सचिव रहे एसपी सिंह, जल निगम के पूर्व एमडी पीके आसुदानी और जल निगम के तत्कालीन अभियंता अनिल खरे के खिलाफ केस दर्ज किया गया है. एक लंबी पूछताछ के बाद एसआईटी की जांच प्रक्रिया पूरी हो चुकी है. जिसमें पूर्व मंत्री और रामपुर से सांसद आजम खान दोषी पाए गये हैं.