महिला को ट्रेन में ही रही प्रसव पीड़ा, स्टेशन पर मात्र एक रूपये में करवाई डिलीवरी

329

जब कोई महिला प्रसव पीड़ा से गुजरती है तो ये पीड़ा सिर्फ वो महिला समझ सकती है जो इस पीड़ा से गुजर चुकी होती है. कई बार ऐसी ख़बरें आई कि ट्रेन में सफर के दौरान महिला को प्रसव पीड़ा हुई.. स्टेशन पर ही महिला ने बच्चे को जन्म दे दिया.. ट्रेन में प्रसव पीड़ा के दौरान मदद ना मिलने से महिला की हालत गंभीर हो गयी..

  ये तो वो कुछ मामले हैं जो खबरों के जरिये लोगों के सामने आई है. एक ऐसी ही खबर सामने आई 26 अप्रैल 2019 को जब 20 साल की एक लड़की ने कोंकण कन्या एक्सप्रेस में सफर करते हुए ठाणे स्टेशन पर नवजात को जन्म दिया। 1 रूपी क्लिनिक के स्टाफ में से एक लड़की ने विषम परिस्थितियों में भी एक माँ का प्रसव सही सलामत कराया… कोंकण कन्या एक्सप्रेस अपने पूरे रफ्तार से पटरियों पर दौड़ रही थी लेकिन इसमें बैठी एक 20 साल की महिला प्रसव पीड़ा से कराह रही थी। महिला को दर्द ट्रेन में चढ़ने के दौरान ही महसूस हो रहा था।

इसके बाद जब ट्रेन ठाणे रेलवे स्टेशन पर पहुंची तब महिला की 1 रुपए क्लिनिक स्टाफ ने डिलीवरी कराई। डिलीवरी के बाद महिला ने एक बच्चे को जन्म दिया। आश्चर्य की बात यह है कि जिस क्लिनिक स्टाफ ने महिल की डिलीवरी कराई उसने पैसे के नाम पर सिर्फ 1 रुपए लिया….. किसी भी महिला के जीवन में प्रसव एक ऐसा अनुभव होता है जिसमें भले ही स्त्री को असीम पीड़ा से गुजरना पड़े लेकिन वो उसका मलाल कभी नहीं करती। लेकिन हकीकत तो यह भी है कि प्रसव पीड़ा के दौरान उचित सुविधा ना मिलने से कई महिलायें अपनी जान तक गवां देती है. “1 रुपए क्लिनिक” की इस उपलब्धि को रेल मंत्री पियूष गोयल ने अपने ट्विटर अकॉउंट पर शेयर किया और साथ ही लिखा कि ठाणे के चौकीदार राष्ट्र की सेवा करने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं. हालाँकि ये बात तो सही है कि “1 रुपए क्लिनिक” की जितनी तारीफ़ की जाए उतनी कम है. एक आंकड़े के मुताबिक़ साल 2011-13 में एक लाख जीवित शिशुओं के जन्म पर 167 महिलाओं की जान प्रसव के दौरान गई थी। हालाँकि 2014-16 में 22 प्रतिशत की कमी के साथ ये सूची 167 से घटकर 130 हो गई। एक बात तो स्पष्ट है कि यदि प्रसव पीड़ा के दौरान महिलाओं को उचित सुविधाएं सही समय पर मिल जाएँ तो इस आकड़ों को रोका जा सकता है.

हालाँकि एक तरफ जहाँ आज के समय डॉक्टर लगातार अपनी फीस बढाते जा रहे हैं वहीँ दूसरी तरफ मुंबई के लगभग हर रेलवे स्टेशन पर 1 रूपी क्लिनिक की सुविधा मौजूद है. जो मात्र ₹1 में स्वास्थ्य संबंधी परामर्श देता है। इनकी वेबसाइट के होमपेज पर ही इसका जिक्र है। इतना ही नहीं यहाँ मात्र ₹5 में ब्लड प्रेशर की जाँच होती है और ECG का शुल्क केवल ₹50 है। मैजिकदिल द्वारा शुरू हुए “1 रुपए क्लिनिक” की परिकल्पना हर आम व्यक्ति के स्वास्थ्य लाभ के लिए है। मैजिकदिल का मकसद किसी क्षेत्र तक सीमित तक ना रहकर इस बड़े पैमाने पर विस्तार करना है. कोई भी व्यक्ति जो अपने स्वास्थ्य को ना चाहते हुए भी नजरअंदाज कर रहा है वो पैसों की कमी के चलते हार न माने और सुविधा का लाभ उठाए..   हालाँकि जिस तरह से थाणे स्टेशन पर महिला की डिलीवरी वन रुपीज क्लिनिक के स्टाफ ने करवाई है उसकी आज हर तरफ तारीफ हो रही है. खुद रेल मंत्री ने भी इस पर ख़ुशी जाहिर की है.