मध्य प्रदेश के इस शख्स का पिता ने नाम रखा 26 जनवरी, इसके पीछे की कहानी भावुक कर देगी

1230

गणतंत्र दिवस के मौके पर पूरे देश में राष्ट्रभक्ति में डूबे लोगों के अलग-अलग नजारे देखने को मिले. देश की राजधानी दिल्ली में थल सेना ने 71 वें गणतंत्र दिवस के मौके पर अपना जलवा दिखाया तो वायु सेना ने आसमान में करतब दिखाए. देश के अलग-अलग हिस्सों से तमाम खबरें आ रही थी, वहीँ दूसरी ओर मध्यप्रदेश के मंदसौर से एक बेहद ही दिलचस्प कहानी सामने आई.

जी हाँ मंदसौर में एक शख्स ने देश भक्ति की भावना में अपने बेटे का नाम ही 26 जनवरी रख दिया. आपको भी सुनकर अजीब लग रहा होगा लेकिन ये सच है. मंदसौर के डाईट संसथान के कर्मचारियों में शामिल एक व्यक्ति का नाम 26 जनवरी है. अब आपको बताते हैं इस अनोखे नाम वाले शख्स के पीछे की कहानी, जो बेहद ही दिलचस्प है.

दरअसल ये बात 26 जनवरी 19966 की है जब पूरा देश गणतंत्र दिवस मना रहा था वहीँ दूसरी ओर एक शिक्षक पिता देश भक्ति में इस कदर डूबा हुआ था कि उसने अपने बेटे का नाम ही 26 जनवरी रख दिया. बेटे का ये नाम होने की वजह से उसे रोजमर्रा की जिंदगी में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा लेकिन उसने अपने पिता के भाव की इज्जत रखी और उस फैसले पर अडिग रहा.

गौरतलब है कि उनके इस नाम का लोगों ने शुरुआत में मजाक बनाया लेकिन फिर बाद में मजाक करने वाले लोग उनके साथ अच्छा व्यवहार करने लगे. उनके सहकर्मी बताते हैं कि 26 जनवरी के शानदार व्यवहार की सभी तारीफ करते हैं, उनके काम और व्यवहार को देखते हुए ही कलेक्टर ने उनसे मिलने की इच्छा जताई है, इतना ही नहीं 26 जनवरी को उनका जन्मदिन दफ्तर बड़े ही धूमधाम से मनाया जाता है.