70 साल के बु’जु’र्ग लौंगी भुईयां ने कर दिखाया ऐसा क’माल, लोग करने लगे वा’ह वा’ह, जानिए क्या है मा’मला

106

बिहार के दशरथ मांझी को तो आज हर कोई जानता है. जिन्हें माउंटेनमैन भी कहा जाता है. जिन्होंने क’ड़ी मेह’नत करके अकेले ही पहाड़ का’ट कर सड़क बना डाली थी. साथ ही जिन पर फिल्म भी बनाई जा चुकी है. वही मांझी जैसा क’माल एक बार फिर करके दिखाया गया है. लेकिन इस बार ये कमाल 70 साल के बुजु’र्ग लौंगी भुईयां ने करके दिखाया है.

बता दें लौंगी भुईयां अपनी क’ड़ी मे’हन’त से  पहाड़ को का’ट कर पांच किलोमीटर लंबी न’हर बना डाली है. जिससे अब प’हाड़ का पानी सीधे न’हर में आता है जहाँ से पानी खे’तों में पहुँच जाता है. वही इस नहर का लाभ अब तीन गाँव के लोग उठा रहे है. जिससे उनकी परे’शानी कम हो गयी है.

जानकारी के लिए बता दें बिहार के गया के रहने वाले लौंगी भुईयां ने क’ड़ी मे’हनत से वो मिसा’ल पे’श की है जिसे हमेशा याद रखा जाएगा. अपनी क’ड़ी मेह’नत के द’म पर उन्होंने अकेले ही नहर बना डाली. ताकि पहाड़ से गि’रने वाले बारिश के पानी को इक’ट्ठा कर गांव तक लाया जा सके. लौंगी भुईयां बताते है कि वो रोज घर से जंगल में पहुंच कर नहर बनाने जाते थे. पहले तो उनके परिवार ने उन्हें काफी मना किया लेकिन उन्होंने किसी की नहीं सुनी और नहर बनाने की ठा’न ली.

बता दें लौंगी भुईयां अपने बेटे, बहू और पत्नी के साथ रहते हैं. वही गांव वालों का कहना है कि जब से हो’श संभा’ला है तब से लौंगी भुईयां को घर में कम, जंगल में ज्यादा देखा. वहीं भुईयां का कहना है कि अगर सरकार कुछ मदद कर दे हमें खेती के ट्रै’क्टर जैसी सुवि’धा मिल जाए तो हम बं’जर पड़ी जमीन को खेती के लिए उपजा’ऊ बना सकते हैं, जिससे लोगों को काफी सहा’यता मिलेगी. जाहिर है लौंगी भुईयां के ज’ज्बे को आज हर कोई सला’म कर रहा है उनकी अपनी क’ड़ी मे’हनत से न सि’र्फ अपने ब’ल्कि तीन गाँवों की परे’शानी को कम कर दिया है.