इन तीन राज्यों को मिलेगा आरक्षण का सबसे अधिक लाभ! आप भी देखिये

411

आरक्षण इस समय देश का सबसे चर्चित मुद्दा है. अभी कुछ दिन पहले ही सरकार ने सामान्य वर्ग के लोगों के लिए 10% आरक्षण देने का कानून बनाया है. सरकार ने सामान्य वर्ग के लिए आरक्षण देने का विधेयक संसद के सदन में पेश किया. जिसे पास कराने में कोई दिक्कत नही आई. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने भी इसे मंजूरी दे दी. इसके बाद आरक्षण का कानून लागू हो गया है. जिससे करीब 8 लाख रुपए से कम सालना आय के सामान्य वर्ग वाले परिवार वालों को फायदा मिलेगा, जिनकी संख्या देश में फिलहाल 5 करोड़ 15 लाख के आस-पास आंकी गई है. लेकिन क्या आप जानते हैं तीन राज्य के लोगों को आरक्षण का सबसे अधिक फायदा मिलने वाला है.


अगर यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड और नेशनल काउंसिल ऑफ अप्लाइड इकोनॉमिक रिसर्च द्वारा कराए गए इंडियन ह्यूमन डवलपमेंट सर्वे (IHDS) की रिपोर्ट की माने तो पश्चिम बंगाल ऐसा राज्य है जहाँ के सामान्य वर्ग के लोगों को सबसे अधिक फायदा मिलने वाला है. जिसमें सामान्य वर्ग के लोगों के हिस्से इसका 17.2 % हिस्सा आएगा. दुसरे नंबर पर उत्तर प्रदेश हैं जहां के 13.3% सामान्य लोगों को इसका फायदा मिलेगा. जबकि 12 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ तीसरे नंबर पर महराष्ट्र है. आंध्र प्रदेश के हिस्से 5.8%, गुजरात के हिस्से 5.4%, बिहार के हिस्से 5.0%, मध्य प्रदेश के हिस्से 4.8% जबकि अन्य सभी राज्यों ही हिस्सेदारी 36.5% रहेगी. वहीँ पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश और महराष्ट्र के हिस्से 40% से अधिक का फायदा आएगा.


सामान्य वर्ग के लोगो के लिए आरक्षण की मांग काफी दिनों से चल रही थी..जगह जगह आन्दोलन हो रहे थे… सरकार गिराने की धमकियाँ मिल रही थी…लेकिन उस समय सरकार ने आरक्षण के लिए कोई वादा नही किया….हालाँकि सरकार ने नाकि सामान्य वर्ग के लोगों के लिए आरक्षण कानून बनाया बल्कि अब यह सभी प्रदेश में लागू भी किया जा रहा है. अब सामान्य वर्ग के पिछड़े लोगों को भी आरक्षण के माध्यम से आगे बढ़ने में मदद मिलेगी.

अगर सही मायने में देखा जाए तो आरक्षण सिर्फ 10 साल के लिए लागू किया गया था लेकिन अभी तक इसे खत्म नही किया जा सका है. कई बार इसे गैरराजनीतिक मंच से आरक्षण को खत्म करने की बात भी उठायी गयी. हालाँकि अभी तक आरक्षण के प्रतिशत को ज्यादातर बढ़ाया ही गया है, कभी घटाया नही गया है. आरक्षण के मुद्दे पर राजनीति भी खूब जमकर होती है. इसी आरक्षण के बल पर कई नेता चुनाव लड़ते हैं और आम वोटर इन नेताओं के चक्कर में फंस जाते हैं.

देखो भैया सरकार ने अब आरक्षण भी दे दिया, अब मत कहना कि हम आरक्षण की वजह से पीछे रह गये हैं. जमकर मेहनत करों और आरक्षण लेकर अच्छे कालेज में दाखिला, अच्छे से पढाई करो और किसी आरक्षण लेकर किसी अच्छे संस्थान में नौकरी करो. चाहे डाक्टर बनो, टीचर बनो. इंजीनीयर बनो और खुश रहो. इसके बाद कुछ ऐसा करो कि आरक्षण की जरुरत ही ना पड़े.