कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस छोड़कर भाजपा में आए 10 विधायकों की बल्ले-बल्ले, बीजेपी ने दिए ये बड़ा तोहफा

782

कर्नाटक में विधानसभा वोटिंग के बाद जमकर सियासी ड्रामा हुआ था, बीजेपी की ज्यादा सीटें आने के बाद कांग्रेस ने जेडीएस के साथ मिलकर सरकार बना ली थी. सबसे बड़ी बात ये थी कि कांग्रेस की जेडीएस से ज्यादा सीटें थी इसके बावजूद भी जेडीएस ने शर्त रखी थी कि वह अपना मुख्यमंत्री बनायेंगे, कांग्रेस ने इस शर्त को मंजूर करते हुए कुमारस्वामी को सीएम बनाया था.

जानकारी के लिए बता दें कुछ समय तक जेडीएस की कांग्रेस के साथ गठबंधन से चली सरकार का आंतरिक झगड़ा सामने आने लगा और कुछ न कुछ बात पर खींचतान मचने लगी. इसी बीच कांग्रेस और जेडीएस के 10 विधायक ने बीजेपी को अपना समर्थन दे दिया और फिर बीजेपी के येदियुरप्पा ने सरकार बना ली. कांग्रेस और जेडीएस छोड़कर भाजपा में शामिल होने वाले पार्टी के टिकट पर विधानसभा उपचुनाव जीतने वाले सभी 10 विधायकों की बल्ले-बल्ले हो गयी.

कर्नाटक में बीजेपी के मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने अपने कैबिनेट का विस्तार किया, इस दौरान उन्होंने कांग्रेस और जेडीएस से आए सभी 10 विधायकों को मंत्री पद की शपथ दिलाई. मीडिया से बातचीत करते हुए येदियुरप्पा ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष और दिल्ली में अन्य नेताओं के साथ विचार-विमर्श के बाद दसों विधायकों को मंत्री बनाने का निर्णय लिया गया है.

गौरतलब है कि कांग्रेस और जेडीएस छोड़कर आए 11 विधायकों में से केवल 1 अथनी के विधायकमहेश कुमाथल्ली को मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया है बाकी 10 विधयाकों ने 6 फरवरी को मंत्री पद की शपथ ले ली है. येदियुरप्पा ने कहा है कि ‘दिल्ली में पार्टी के नेता और पार्टी अध्यक्ष के साथ मंत्रिमंडल का विस्तार किया जाएगा. 10 विधायकों को इसमें शामिल करने के बाद कुछ और लोगों को शामिल करने पर विचार किया जाएगा.’ दरअसल 15 दिसंबर को कर्नाटक में 15 सीटों पर उपचुनाव हुए थे जिसमें भाजपा ने 12 सीटों पर जीत दर्ज की थी और 2 सीटों पर कांग्रेस व एक सीट अन्य के खाते में गयी थी.