आख़िर क्या खाकर मैदान पर उतरते है रोहित शर्मा

885

वो जब चाहे लम्बे छक्के जड़ देता है,बाउंडरी मारना उसके लिए खेल है। वो विश्व रिकॉर्ड अपने नाम रखता है। ह्म्म्म अब आप सोच रहे होंगे की ऐसा भला कौन है तो आप सबनेरोहित शर्मा नाम तो सुना ही होगा,अरे चचा वही रोहित जिसने तीन तीन दोहरे शतक ठोक रखे है। अब दो दिन मैच में नही चल पाए तो लग गए आलोचक गरियाने,गरियाना भी ऐसा वैसा नही बल्कि कुछ तो उन्हें टीम से ही बाहर करने की भी धमकी देने लगे थे। ह्म्म्म,अब शर्मा जी के लौंडे ने फिर से बल्ला चलाया है और ऐसा चलाया है कि आलोचकों के मुँह पर फिर से ताला लग गया है।

न्यूज़ीलैंड के खिलाफ पहले टी-20 में फेल रहे रोहित ने दूसरे मैच में जमके रन बनाए और सारी कसर पूरी कर ली। रोहित ने दूसरे मैच में फिफ्टी ठोकी और टीम इंडिया को आसानी से जीत दिला दी। अब उन्होंने पचासा तो ठोका ही साथ ही 20-20 ओवर्स के खेल में दुनिया भर में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी बन गए है। 92 टी-20 मैचों में रोहित ने 2288 रन बना लिए है।  उन्होंने न्यूजीलैंड के मार्टिन गुप्टिल को पछाड़कर ये कारनामा किया है।

मार्टिन ने 2272 रन बनाए थे। जिसको अब रोहित ने पीछे छोड़ दिया है। ब्लैक एन्ड व्हाइट अखबार वाली भाषा मे कहूं तो अपनी बैटिंग से विरोधियों के पैरों तले की जमीन हिलाने वाले रोहित पता नही क्या खाके मैदान पर आते है कि उससे विरोधी पस्त और टीम इंडिया मस्त रहती है। रनों से अलग भी एक ख़बर है ,अब शर्मा जी इंटरनेशनल टी-20 में 102 छक्के जड़ने वाले दुनिया के तीसरे खिलाड़ी और पहले भारतीय बन गए है, रोहित के ऊपर बस क्रिस गेल और मार्टिन गुप्टिल है जिन्होंने कुल 103 छक्के जड़े है,यानी अगर रोहित बस बल्ले का फेस सीधा करते हुए सिर्फ दो गेंद को उड़ाने में सफल रहे तो वो दुनिया भर में सबसे ज़्यादा सिक्स मारने वाले खिलाड़ी बन जाएंगे।


इसके अलावा एक और रिकॉर्ड है जो रोहित के नाम है वो है बढ़िया कप्तानी का,रोहित ने टीम को जीत दिलाने के मामले में विराट को भी पछाड़ दिया है, रोहित की कप्तानी में अब तक भारतीय टीम ने कुल 14 टी-20 मैचों में कप्तानी की है जिसमे से उसने 12 मैचों में जबर जीत दर्ज की है। जबकि विराट ने अब तक 20 टी 20 मैच में टीम की कमान सम्भाली है जिसमे से टीम को 7 मुकाबलों में हार मिली, 12 मैचों में जीत मिली और एक मैच बिना नतीजे वाला रहा।


लोग कहते है कि शर्मा जी खिलाड़ी तो बढ़िया है लेकिन भरोसेमंद नही है यानी टीम को जरूरत होती है तो रोहित चल नही पाते,लेकिन अगर बन्दे का रिकॉर्ड उठाकर देखे तो वनडे में 47.6 का एवरेज, 22 शतक और 39 अर्धशतक, टी-20 में लगभग 33 का एवरेज,चार शतक और 16 अर्धशतक। अब ये सब उन्होंने बिना टिके तो नही बना दिया। 
आप रोहित के फैन हो या आलोचक एक बात तो आप सबको माननी पड़ेगी की रोहित भले ही एक दो मैच छोड़के चले लेकिन जब चलता है तो अच्छे अच्छे गेंदबाजों का मुँह बस देखने लायक होता है। भाई हम तो उम्मीद करते है कि शर्मा जी का लड़का बस ऐसे ही रिकॉर्ड पे रिकॉर्ड बनाता जाए ताकि हमे भी टीम के जीत की खबर पढने और सुनने को मिलती रहे।